शुक्रवार, 26 जून 2015

टोडी हिन्दुत्व और एंग्लोफिल

पानी बाबा के विचार 1
आजादी की लड़ाई के दौरान ‘टोडी बच्चा, हाय-हाय’ का मुहावरा काफी प्रचलित था। उन दिनों इस मुहावरे का सहज अर्थ ‘अंग्रेजों का पिट्ठू’ था। मूलतः ‘टोडी’ का अर्थ हीनता से उपजा मेंढक जैसा बौनापन और नकलची तौर पर उछाल लगा कर लंबा या ऊंचा दिखने की प्रवृत्ति। अ्रगरेजों जैसा बनने, दीखने या कम से कम आत्ममुग्ध हो कर वैसा ही महसूस करने की प्रवृत्ति एंग्लोफिल है।
भारतीय संदर्भ में इसका वस्तुनिष्ठ संदर्भ इस्लाम और इसाईयत जैसा शौर्यवान बनने की प्रबल उत्कंठा और प्रवृत्ति से है। यही प्रवृत्ति आधुनिकता के संदर्भ में है। टोडी हिन्दुत्व की प्रवृत्ति के अनेक स्वरूपों की अभिव्यक्ति पिछले 150-200 वर्षों में देखने में आयी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें